Hindi Story- अपनी भूल पर पछताया महाराजा

0
2
hindi story

Hindi Story – महाराजा की सबसे बड़ी भूल जिन्दगी की

Hindi Story

 

आज की इस hindi story  में मैं आपको बताऊंगा एक राजा की कहानी जो की एक बहुत बड़ी गलती की थी

जो उसे एक छोटी सी चिड़िया ने समझाई थी आप लोग भी इस hindi story  को पढ़े को चिड़िया की

उन बातो को अपने जीवन में लाने की कोशिश करेंगे मेरी ये एक छोटी सी कोशिश है की

मैं अपने इस ब्लॉग पर कुछ न कुछ अच्छा लिखता रहा जोकि आप लोगो को थोडा सा जिन्दगी में आगे बढ़ने की प्रेरणा दे तो आप इस कहानी को जरुर पड़े

और अगर आपको अच्छी लगे तो अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करे ताकि वो भी इस कहानी को पढ़ सके तो चलिए शुरू करते है आज की ये hindi story.

Foolish King Hindi Story

राजा भानु परताप के महल में एक बहुत ही सुन्दर वाटिका थी जिसमे अंगूरों की की बेल लगी हुयी थी उस वाटिका में एक चिड़िया रोज आती थी और चुन चुन कर अच्छे अच्छे अंगूर खा जाती थी

और बाकी के कचे पके अंगूर निचे ही फेंक कर चली जाती थी वाटिका के माली ने चिड़िया को पकड़ने की बहुत कोशिश की थी

पर वो माली के अक्भी भी हाथ नहीं आई थी 

आखिर  में माली ने निराश हो कर ये बात अपने राजा को बताई ये सुनकर राजा को बहुत हेरानी हुयी राजे ने सोचा की कल वो खुद ही चिड़िया को पकड़ेगा 

और पकड़कर उस चिड़िया को सबक सिखाएगा अगले दिन राजा खुद ही जाकर वाटिका में छुपकर और जब चिड़िया अंगूर खाने आई तो राजे ने चिड़िया को पकड़ लिया

राजा चिड़िया की गर्दन मरोड़ने ही वाला था की चिड़िया बोली ”राजन आप मुझे छोड़ दे मैं आपको ज्ञान की चार बाते बताउंगी”

राजा बोला जल्दी बताओ 

चिड़िया बोली पहली बात तो ये है कि ”हाथ में आये हुए दुश्मन को कभी भी छोड़ना नहीं चाहिए 

राजा बोला ” दूसरी बात  ??

चिड़िया बोली ” असंभव बात पर कभी भी विश्वास मत करना 

और उसके बाद चिड़िया बोली कि बीती हुयी बातो बातों पर कभी भी पछतावा मत करना

उसके बाद राजा बोला अभी आखरी बात भी जल्दी बता दे 

ये सुनकर चिड़िया बोली ये आखरी बात बहुत ही ज्यादा भेद भरी हुयी है आप मेरी गर्दन को थोडा ढीला करो मुझे सांस भी नहीं आ रहा है 

थोडा  सांस लेकर फिर बताउंगी चिड़िया की ये बात सुनकर राजे ने चिड़िया को अपने हाथो में ढीला किया चिड़िया उड़कर सामने पेड़ पर जा कर बैठ गयी राजा हेरान होकर उसकी तरफ देखने लगा था 

चिड़िया बोली राजन आखरी बात ये थी की ज्ञान सुनने और पढने से कुछ नहीं होता दिए हुए ज्ञान पर अमल भी करना चाहिए ज्ञान का फायदा तभी होता है अगर हम लिए हुए ज्ञान पर अमल भी करते है 

मैं तुम्हारी दुश्मन थी और फिर भी तुमने मुझे पकड़ने के बाद छोड़ दिया था आप मेरी मीठी  मीठी  बातों में आ गए और मुझे छोड़ दिया 

अब राजन  तुम अपनी इन बातों पर सिर्फ पछता सकते हो और कुछ नहीं कर सकते इसलिए आगे से याद रखना की हाथ में आये दुश्मन को कभी भी छोड़ना नहीं चाहिए 

ये बात बोलकर चिड़िया  उड़ गयी और राजा वहां खड़ा हाथ मलता रह गया वो अपनी इस बात पर पछता रहा था की उसने हाथ में आये अपने दुश्मन को छोड़ दिया था 

तो दोस्तों ये दी आज की हमारी Hindi Story अगर आपको ये कहानी अच्छी लगी है

और कुछ सिखने को मिला है तो चिड़िया की बातो को जरुर अमल करे अगर आपको ये Hindi Story अच्छी लगी हो

तो इसे सोशल एकाउंट्स पर जरुर शेयर करे और रोज ऐसे ही कुछ नए आर्टिकल के लिए हमें फेसबुक पर फॉलो करे 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here